सेन्ट एम.पी.कृषि मजदूर एवं सीमांत/लघु कृषको हेतु लघु इकाई बकरी पालन योजना

CentMP Goat Rearing Loan:

 

प्रयोजन
लघु इकाई बकरी पालन योजना हेतु वित्तपोषण
पात्रता

ऐसे कृषि मजदुर/ सीमांत/लघु कृषक जिनके पास बकरी चराने हेतु स्वयं का क्षेत्र या समीप के क्षेत्र में में पर्याप्त चारा उपलब्ध हो तथा पशु के रखरखाव की सुविधा उपलब्ध हो।
ऋण की प्रकृति
सावधि ऋण 
ऋण की प्रमात्रा
1. 10 बकरीया़ 1 बकरा हेतु इकाई लागत अधिकतम रु. 35000/- 
2. 20 बकरीया +2 बकरे हेतु इकाई लागत अधिकतम रु. 70000/-
बकरीया देशी नस्ल की एवं बकरा जमनापारी क्रय किया जाय

मार्जिन

आवेदक से इकाई लागत पर न्यूनतम 10 प्रतिशत राशि मार्जिन के रुप में जमा करवाई जाय।

शुद्ध ऋण राशि

उपरोक्त बिंदु क्र. 4 में दर्शित इकाई लागत का अधिकतम 90 प्रतिशत रहेगी। किसी भी परिस्थिति में 20+2 की इकाई से बडी इकाई हेतु वित्तपोषण नही किया जाय।

ब्याज दर 

बी.पी.एल.आर.-1 प्रतिशत

अदायगी

समस्त ऋण राशि मय ब्याज सहित 10 अर्धवार्षिक किश्तों में वसूली जाय।ऋण वितरण दिनांक से 12 माह पश्चात प्रथम अर्धवार्षिक किश्त देय होगी।

बीमा

बैंक द्वारा प्रदत्त पशुओं का बैंक क्लाज सहित बीमा किया जाय।

अन्य शर्ते

1. पशु बाजार से पशु क्रय समिति के माध्यम से क्रय कराये जाय। क्रय समिति में हितग्राही, शाखा प्रबंधक एवं पशु चिकित्सक सम्मिलित होंगे।
2. बकरीया पहली ब्यात से अधिक उम्र की क्रय नही की जाय।
3. जमनापारी बकरा 6 से 8 माह की उम्र का क्रय किया जाय।
4. बिमारीयों के रोकथाम हेतु हितग्राही को पशुचिकित्सालय से संपर्क बनाया रखने हेतु आवश्यक समझाईश दी जाय। 

प्रतिभूति/प्राथमिक

ऋण से क्रय किये गये पशुओं का दृष्टिबंधक।


• Terms and conditions applicable 

• Please contact nearest branch for details

• ब्याज दर के लिए ब्याज दर लिंक क्लिक करें
• प्रक्रिया शुल्क के लिए सेवा प्रभार लिंक क्लिक कर